नयी दिल्ली,   राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के राष्ट्रपति के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति पद को राजनीति से ऊपर करार देते हुये इस चुनाव के मतदाता मंडल के सदस्यों से उन्हेें समर्थन देने की अपील की है।

श्री कोविंद ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुये कहा कि 125 करोड़ की आबादी वाला भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और इस लोकतंत्र में राष्ट्रपति का पद सबसे गरिमा पद है और वह इस सर्वोच्च पद की गरिमा बनाये रखने के लिए हर संभव प्रयास करेंगें।

श्री कोविंद ने कहा ‘‘जब से मैं राज्यपाल बना हूं मेरा कोई राजनीतिक दल नहीं है। मेरी मान्यता रही है कि राष्ट्रपति का पद दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए। ’’उन्होंने कहा “ मैं (इस चुनाव के) मतदाता मंडल से सहयोग की अपील करता हूं।’’ उन्होंने कहा कि देश में राष्ट्रपति के पद को डा़ राजेन्द्र प्रसाद, डा राधाकृष्णन और डा ए पी जे अब्दुल कलाम जैसे महानुभाव सुशोभित कर चुके हैं। इस महान परंपरा से देश विदेश परिचित है। संविधान की सर्वोच्चता बनाये रखने का विश्वास दिलाते हुये उन्होंने कहा“ हमारा संविधान सर्वाेपरि है और उसकी सर्वोच्चता बनाये रखना हमारी जिम्मेदारी है।”

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति तीनो सेनाओं का सुप्रीम कमांडर भी होता है और सीमाओं की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि कुछ ही वर्षाें बाद आजादी के 75 वर्ष साल मनाने वाले हैं और ऐसे समय में भारत को निरंतर विकास की ओर ले जाने और लोगों के सपने पूरे करने को प्रायसरत रहूंगा। श्री कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राजग घटक दलों तथा अन्य दलों के नेताओं को उन्हें समर्थन देने के लिए आभार व्यक्त किया।

Related Posts: