नवभारत न्यूज भोपाल,

राजधानी सहित प्रदेश के कई शहरों में कोहरे ने जन-जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया. यहां तक कि राजधानी में शुक्रवार इस मौसम का सबसे अधिक सर्द दिन बन गया. जब दिन का तापमान चार डिग्री नीचे आकर 23.3 दर्ज किया गया.

इसके अलावा ग्वालियर, सागर व रीवा में भी कोहरे ने जन-जीवन की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिये. मौसम केन्द्र ने बताया है कि पश्चिमी विक्षोभ व टर्फ की स्थिति के चलते कोहरे के साथ सर्दी का प्रकोप बढ़ा है.

प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग, रीवा, सागर तथा भोपाल संभाग में दोपहर बाद तक घने कोहरे की स्थिति रही. राजधानी भोपाल में कोहरे की वजह से दिन में ही अलाव जलते नजर आये. लोगों की जब आंख खुली तो घना कोहरा छाया हुआ था एवं मौसम बेहद सर्द था.

दोपहर बारह बजे के बाद धूप खिली और कुछ राहत मिलती महसूस हुई. मौसम केन्द्र का कहना है कि आने वाले चौबीस घंटों के दौरान कोहरे की स्थिति बरकरार रहेगी. केन्द्र ने इसके लिये चेतावनी भी जारी कर दी है.

रेल व हवाई यातायात पर असर

कोहरे की वजह से हवाई व रेल यातायात भी प्रभावित हुआ है. राजधानी में दिल्ली से आने वाली करीब आधा दर्जन ट्रेनें 2 से लेकर छह घंटे तक विलम्ब से आईं. इसी तरह मौसम खराब होने की वजह से हवाई यातायात भी दो घंटे से अधिक प्रभावित रहा.

Related Posts: