kohinoorनयी दिल्ली,  केंद्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय में कहा कि भारत कोहिनूर पर अपना दावा नहीं कर सकता, क्योंकि ब्रितानी हुकूमत ने न तो इस पर जबरदस्ती कब्जा किया था और न ही इसे चुराया था।

गैर-सरकारी संगठन ऑल इंडिया ह्यूमन राइट्स एंड सोशल जस्टिस फ्रंट की जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान संस्कृति मंत्रालय की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने कहा कि महाराजा रंजीत सिंह ने ईस्ट इंडिया कंपनी को कोहिनूर दिया था।

श्री कुमार ने मुख्य न्यायाधीश टी एस ठाकुर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष दलील दी कि ब्रितानी हुकूमत ने न तो कोहिनूर को चुराया था, न ही वह इसे जबरदस्ती ले गई थी। ऐसी स्थिति में भारत सरकार कोहिनूर लौटाने का दावा नहीं कर सकती। हालांकि इस मामले के एक अन्य प्रतिवादी ‘विदेश मंत्रालय’ ने अपना पक्ष अभी नहीं रखा है।

Related Posts: