menakaनई दिल्ली,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भले ही विकसित देशों की खिंचाई कर रहे हैं, लेकिन उनकी ही एक मंत्री का कहना है पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने में भारत भी मुख्य रूप से जिम्मेदार है.

केंद्र की मोदी सरकार में महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, यह हमेशा आरोप का सवाल बन कर रह जाता है…पश्चिमी देशों ने ऐसा किया. हो सकता है उन्होंने 100 साल पहले ऐसा किया. पर्यावरण को नष्ट करने में भारत भी मुख्य रूप से जिम्मेदार है. उन्होंने कहा, भारत, चीन और ब्राजील सबसे ज्यादा मीथेन पैदा करते हैं. इसके बावजूद हम इसके बारे में सोच नहीं रहे हैं. जलवायु परिवर्तन के मामले में मीथेन कार्बन डाई ऑक्साइड से 26 गुना ज्यादा नुकसानदायक है.

मेनका गांधी ने कहा कि हम जलवायु परिवर्तन के लिए सिर्फ पश्चिमी देशों को दोषी नहीं ठहरा सकते. वह मानती हैं कि चेन्नई में जोरदार बारिश के कारण पैदा हुए बाढ़ जैसे हालात भी ग्लोबल वार्मिंग की वजह से पैदा हुए हैं.

यहां बता दें कि पीएम मोदी ने फ्रांस की राजधानी पैरिस में क्लाइमेट चेंज समिट में विकसित देशों को आड़े हाथों लिया था. उन्होंने कहा था कि इस मामले में विकसित देश अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकते. उन्होंने कहा था कि विकसित देश अगर कार्बन उत्सर्जन कम करने के मामले में विकासशील देशों पर ही दबाब डालते रहे तो यह नैतिक रूप से गलत होगा.

Related Posts: