JKनई दिल्ली,  संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की फांसी के विरोध में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुए कार्यक्रम की रूपरेखा उमर खालिद ने तैयार की थी. यह खुलासा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये जेनएयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने किया है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक उमर के कश्मीरी अलगाववादियों से संबंध हैं. कन्हैया के खुलासे के मुताबिक उमर के पास कश्मीर से कई संदिग्ध युवक आते रहते थे. यह बात भी सामने आई है कि भारत के टुकड़े करने और अफजल गुरु की शहादत के नारे भी कश्मीर से आए युवकों ने ही लगाए थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक 7 फरवरी को जेएनयू परिसर में 10 कश्मीरी युवक आए थे. उमर खालिद ने महीनों तक इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनाई थी. गौरतलब है कि कश्मीरी युवकों के घुसने के ठीक दो दिन बाद जेएनयू में बड़ा विवाद खड़ा हो गया.

Related Posts:

पीएससी की परीक्षा में परीक्षार्थियों से उतरवा लिये जूते-मोजे और लॉकेट
'मोदी सूट' के खरीदार 10,000 लड़कियों को देंगे दो-दो लाख
सरकार और शिक्षा नीति मसौदा समिति के अध्यक्ष के बीच टकराव
चीन ने मानवयुक्त अंतरिक्ष यान लांच किया
इंदौर के अति विशिष्ठ क्षेत्र स्थित बीसीएम हाइट़स भवन में आग
राजधानी भोपाल समेत पूरे मध्यप्रदेश में मना अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस