parinitiबॉलीवुड की नवोदित अभिनेत्री और प्रियंका चोपड़ा की बहन परिणीति चोपड़ा खुद को फेमिनिस्ट नहीं मानती है. परिणीति हरियाणा के महिलाओं के लिए चलाए जा रहे ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान की ब्रांड एंबेसडर हैं. उन्होंने कहा कि वह फेमिनिस्ट नहीं हैं लेकिन लैंगिक समानता की हिमायती हैं.

परिणीति ने कहा, मैं महिलाओं की रोल मॉडल के रूप में अपनी छवि बनाना चाहती हूं, किसी फेमिनिस्ट के रूप में नहीं. मैं इसको लेकर बहुत कंफ्यूज हूं लेकिन इतना तय है कि मैं फेमिनिस्ट नहीं. मुझे महिला होने पर गर्व है. हरियाणा के अभियान ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की ब्रांड एंबेसडर होने के नाते मेरी ये जिम्मेदारी बनती है कि मैं लैंगिक असमानता के खिलाफ आवाज बुलंद करूं.”

Related Posts: