modi1नवादा,  दादरी में हुई घटना और पूरे देश में की जा रही राजनीति के बीच इस घटना पर पीएम की चुप्पी पर सवाल उठने लगे थे। जहां एक तरफ सभी दलों के नेता कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे वहीं प्रधानमंत्री द्वारा इस मामले पर कुछ ना कहे जाने को लेकर सवाल खड़े हो रहे थे।

नावादा में चुनावी रैली संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि सांप्रदायिक राजनीति करने वाले नेताओं के बयानों पर ध्यान नहीं देते हुए हिन्दू-मुस्लिम आपस में मिलकर गरीबी से लड़े ना कि एक दूसरे से। पीएम ने घटना पर दिए जा रहे बयानों को लेकर भी नेताओं को फटकार लगाई और कहा कि गैरजरूरी बयान देने से बचना चाहिए।

पीएम ने यह बात उनकी रैली के दौरान हुए धमाकों का उदाहरण देते हुए कही। उन्होंने कहा कि दो साल पहले गांधी मैदान में मैं आया था, 27 अक्टूबर को न तो मैं भूल सकता हूं और न ही हिंदुस्तान का कोई नागरिक भूल सकता है।

Related Posts: