नई दिल्ली,  सरकारी बैंको को अब तक की सबसे बड़ी चुनौती मिलने वाली है। यह चुनौती इन्हें विदेशी या निजी बैंकों से नहीं बल्कि पेमेंट बैंकों से मिलेगी। पेटीएम, रिलायंस, बिड़ला ग्रुप के अलावा दूरसंचार कंपनियां एयरटेल, वोडाफोन सहित दस कंपनियां अगले 3 से 6 महीनों के अंदर अपने पेमेंट बैंक कारोबार को लांच कर देंगी। इनमें से कुछ कंपनियों ने तकनीक और प्रोफेशनल्स के तौर पर जिस तरह से नई भर्तियां शुरू की हैं वह सरकारी बैंकों के लिए निश्चित तौर पर खतरे की घंटी है।

आरबीआई ने अगस्त, 2015 में 11 कंपनियों, बैंकों या अन्य एजेंसियों को पेमेंट बैंक खोलने का लाइसेंस दिया था। इसमें भारतीय डाक विभाग भी शामिल है जिसके साथ पेमेंट बैंक कारोबार शुरू करने के लिए विश्व बैंक समेत दुनिया के एक दर्जन बड़े बैंक प्रस्ताव भेज चुके हैं।

वैसे कारोबार के लिहाज से ये संपूर्ण बैंक तो नहीं होंगे लेकिन ये आम जनता की सामान्य बैंकिंग जरूरत से जुडी तमाम सेवाएं ये बैंक दे सकेंगे। हां, ये कर्ज नहीं दे सकेंगे लेकिन छोटी बचत स्कीम जरूर चालू कर सकते हैं। साथ ही ये दूसरी वित्तीय कंपनियों के उत्पादों की बिक्री भी कर सकेंगे।
पेमेंट बैंक की तैयारियों में सबसे आगे पेटीएम है। कंपनी ने कल रिजर्व बैंक की वरिष्ठ युवा अधिकारी शिंजनी कुमार को अपने पेमेंट बैंक कारोबार का सीईओ बनाने का एलान किया है।

मोबाइल वैलेट को आम जनता और छोटे कारोबारियों तक पहुंचाने रा काम कर चुकी पेटीएम ने पेमेंट बैंक कारोबार के लिए 2640 करोड़ रुपये का इंतजाम किया है। पेटीएम का पेमेंट बैंक जून, 2016 में लांच होगा। आज बिड़ला ग्रुप की तरफ से पेमेंट बैंक का लाइसेंस प्राप्त कंपनी एबी नूवो ने अपनी सेल्युलर कंपनी आइडिया के साथ गठबंधन किया है। इसमें एवी नूवो के पास 51 प्रतिशत और आइडिया के पास 49 फीसदी हिस्सेदारी है।

एरटेल और वोडाफोन भी कई वित्तीय संस्थानों के साथ बात कर रहे हैं जो इन्हें पेमेंट बैंक कारोबार में मदद करेंगे। वोडाफोन ने इसके लिए 6 हजार करोड़ रुपये का नया निवेश करने की बात कही है। इन तीनों मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों के संयुक्त तौर पर देश में 60 करोड़ ग्राहक हैं। अगर इनमें से 10-15 प्रतिशत ग्राहकों को भी ये अपने बैंकिंग कारोबार में ले आए तो यह बहुत बड़ा कारोबार होगा।

यह सरकारी बैंकों के ग्राहकों के एक बड़े वर्ग में पैठ बना सकते हैं। पेटीएम और दूरसंचार कंपनियां मुख्य तौर पर ग्राहकों को सीधे उनके घर पर ही सेवा देने की तैयारी कर रहे है।

Related Posts: