नयी दिल्ली,

वैश्विक बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक,इंफोसिस और आईटीसी जैसी दिग्गज कंपनियों के शेयरों में बिकवाली से चालू वित्त वर्ष के अंतिम कारोबारी दिवस पर घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट रही।

बीएसई का सेंसेक्स 0.62 प्रतिशत यानी 205.71 अंक टूटकर 32,968.68 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 0.69 प्रतिशत यानी 70.45 अंक की गिरावट में 10,113.70 अंक पर बंद हुआ।

वित्त वर्ष के दौरान सेंसेक्स 3,3448.18 अंक चढ़ने में कामयाब रहा।पहले 10 महीने में यह 6,800 अंक से ज्यादा चढ़ा था, लेकिन अंतिम दो महीने में 3,300 अंक से ज्यादा लुढ़क चुका है।पिछले वित्त वर्ष के अंतिम कारोबारी दिवस पर सेंसेक्स 29,620.50 अंक पर बंद हुआ था।इस साल 29 जनवरी को यह 36,443.98 अंक के अब तक के उच्चतम स्तर को छूता हुआ 36,283.25 अंक पर बंद हुआ था।इसके बाद से बाजार तीन हजार अंक से ज्यादा टूट चुका है।

दूरसंचार समूह ने आज बाजार पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया।इसका सूचकांक ढाई फीसदी से ज्यादा टूटा।धातु समूह का सूचकांक भी दो प्रतिशत से अधिक की गिरावट में रहा।

सेंसेक्स की कंपनियों में टाटा स्टील के शेयर सवा तीन फीसदी टूटे।भारती एयरटेल और अदानी पोर्ट्स में तीन प्रतिशत, सनफार्मा, बजाज ऑटो, आईसीआईसीआई बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज में करीब दो प्रतिशत की गिरावट रही।विप्रो और कोल इंडिया ने बाजार को सँभालने की कोशिश की।

Related Posts: