parliamentनयी दिल्ली,  कांग्रेस के सदस्यों ने गुजरात स्टेट पेट्रोलियम निगम (जीएसपीसी) से संबंधित नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक(कैग) की रिपोर्ट को लेकर आज राज्यसभा में भारी शोरगुल और हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही चार बार के स्थगन के बाद तीन बजे तक स्थगित करनी पडी.  कांग्रेस ने सुबह कार्यवाही शुरू होते ही इस मुद्दे पर चर्चा कराने की मांग की जिसके चलते हुए हंगामे के कारण शून्यकाल तथा प्रश्नकाल समेत कोई विधायी कामकाज नहीं हो सका।

भाेजनावकाश के बाद भी विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि गैस और तेल उत्खनन का विषय केन्द्र के दायरे में आता है और सरकार का यह तर्क कि यह राज्य का विषय है, सही नहीं है ।

इसके अलावा इस मामले में राष्ट्रीय बैंकों से हजारों करोड रूपये का कर्ज लिया गया है और ये बैंक भी राष्ट्रीय विषय के दायरे में आते हैं।

Related Posts:

संप्रग सरकार डूबता जहाज: गडकरी
सिंहस्थ : व्यवस्थाओं का आकस्मिक जायजा लेने आधी रात रामघाट पहुँचे शिवराज
सिंहस्थ : दूसरे शाही स्नान में लाखों लोगाें ने लगाई डुबकी
प्रधानमंत्री कार्यालय की वेबसाइट हुई बहुभाषी
राज्य सरकार कैराना से पलायन को नकारने के बजाय करे आत्मनिरीक्षण : कलराज
यूनीसेफ ने अमिताभ का एम्बेसडर कार्यकाल दो वर्ष बढ़ाया