29a24भोपाल,29 अप्रैल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सड़कों की गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं हो। अच्छा कार्य करने वालों को पुरस्कृत किया जाये तथा कार्य में गड़बड़ी अथवा विलंब के प्रकरणों में दंडात्मक कार्रवाई भी की जायें।

उन्होंने कहा कि वर्षा ऋतु में सभी प्रमुख मार्ग मोटरेबल रहें। समय रहते इसके आवश्यक प्रबंध कर लें। चौहान लोक निर्माण विभाग की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में लोक निर्माण मंत्री सरताज सिंह भी उपस्थित थे।

मानीटरिंग हो
मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यों की गुणवत्ता के लिए सतत मॉनीटरिंग की जाना चाहिऐ। निरीक्षण प्रतिवेदनों की भी समीक्षा हो। ऐसे स्थान चिन्हित किये जायें जो नियमित मानीटरिंग में छूट जाते हैं। उनकी मानीटरिंग के लिए प्रशासनिक संरचना में भी आवश्यक संशोधन किये जायें।

रिंग रोड बनेगी
ऐसे नगरों जहाँ शहरों पर यातायात का दबाव अधिक है उनके लिए रिंग रोड निर्माण का मॉडल बनायें।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 तक प्रदेश की सभी सड़कें दुरूस्त हो जाना चाहिये। चौहान ने कहा कि सड़कें विकास की प्रथम आवश्यकता हैं। ग्रामीण विकास और लोक निर्माण विभाग संयुक्त रूप से 2018 तक सड़कों के निर्माण का खाका तैयार करें।

ये रहे मौजूद
बैठक में लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव प्रमोद अग्रवाल, म.प्र. सड़क विकास निगम के प्रबंध संचालक मनीष रस्तोगी, वित्त सचिव अनिरूद्ध मुखर्जी, मुख्यमंत्री के सचिव हरिरंजन राव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Posts: