GULBARG2अहमदाबाद,  गुजरात के गोधरा में 27 फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस के एक डिब्बे को जलाये जाने के एक दिन बाद यहां मेघाणीनगर इलाके में अल्पसंख्यक समुदाय के परिवारों की रिहायश वाले गुलबर्ग सोसायटी में भीड द्वारा जिंदा जला कर मार दिये गये 69 लोगों, जिनमें कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी भी शामिल थे, से जुडे चर्चित गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार मामले में दोषी ठहराये गये 24 लोगों को सजा सुनाये जाने के बिंदु यहां एक विशेष अदालत में सुनवाई जारी रही।

अदालत ने सुनवाई की अगली तिथि नौ जून तय कर दी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) के वकील आर सी कोडकर ने एसआईटी अदालत के न्यायाधीश पी बी देसाई से 24 में से 11 दोषियों जिन्हें हत्या का दोषी ठहराया गया है को फांसी की सजा देने की मांग की।