नयी दिल्ली,  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इंटरनेट की दिग्गज कंपनी गूगल की भारत में ऑनलाइन भुगतान सेवा की शुरुआत करते हुये आज यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) पर आधारित उसका भुगतान ऐप ‘तेज’ लांच किया जो अभी अंग्रेजी, हिंदी, बंगला, गुजराती, कन्नड़, मराठी, तमिल और तेलुगु भाषाओं में उपलब्ध है।

श्री जेटली ने यहाँ एक कार्यक्रम में इसे लांच करते हुये डिजिटल भुगतान के लिए सबसे सरल ऐप बताया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश में डिजिटल भुगतान में तेजी आयी है। हालांकि, धीरे-धीरे तंत्र में नकदी बढ़ने के बाद डिजिटल भुगतान में कुछ कमी आयी थी, लेकिन अब फिर से इसमें तेजी आने लगी है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष जनवरी में गूगल के अधिकारियों से उनसे भेंट कर इस ऐप पर चर्चा की थी और मात्र नौ महीने में कंपनी ने डिजिटल भुगतान को सरल बनाने वाले इस ऐप को लांच कर दिया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था में नकदी के स्थान पर वैकल्पिक भुगतान व्यवस्था कभी भी केंद्र विन्दु में नहीं रहा है। लेकिन, नोटबंदी के बाद डिजिटलीकरण पर जोर दिया गया और अब ‘तेज’ जैसे ऐप इसको गति देने में सहायक होंगे। इस ऐप के जरिये रोजाना एक लाख रुपये और दिन में 20 ट्रांसफर करने की सीमा तय की गयी है।

ऐप से सभी बड़े या छोटे भुगतान तेज के साथ सीधे अपने बैंक खाते से किये जा सकते हैं। भारत के लिए विकसित यह नया डिजिटल भुगतान ऐप एंड्रॉयड और आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करेगा। यूपीआई एक पेमेंट सिस्टम है, जिसे नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने लांच किया था। इसे रिजर्व बैंक नियंत्रित करता है। यूपीआई सिस्टम से मोबाइल प्लेटफॉर्म पर बैंक खातों के बीच तत्काल पैसे की लेन-देन की सुविधा देता है।

Related Posts: