गेमन इंडिया के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा

नवभारत न्यूज भोपाल,

फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जमीन की लीज रजिस्टर्ड करवाने और रजिस्ट्री को गिरवी रखकर बैंक से 500 करोड़ का लोन लेकर धोखाधड़ी करने के मामले में आवेदक देवेन्द्र प्रकाश मिश्रा की ओर से जिला अदालत में गेमन इंडिया के अधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं के तहत एक निज परिवाद पत्र दायर किया गया है.

जानकारी के मुताबिक भादंवि की धारा 467, 468, 471, 472, 473, 474, 420, 120 बी और 34 के तहत दायर किए गए इस आवेदन में गैमन इंडिया प्रायवेट लिमिटेड के अलावा रमेश शाह, तत्कालीन निदेशक दीपमाला इंफ्रास्ट्रक्चर और तत्कालीन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी एनएस तोमर भोपाल के खिलाफ न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी अभिनव जैन की कोर्ट में यह परिवाद पत्र दायर किया गया है.

परिवाद पत्र में रमेश शाह पर कूटरचना कर फर्जी लीजडीड बनाने तथा फर्जी लीज पर 500 करोड़ रुपये के लिए पूरा प्रोजेक्ट एक्सिस बैंक में गिरवी रख कर लोन लेने और अपनी पहचान छिपाने तथा बंधक को आम खरीददारों से छिपाने का आरोप है.