मुचलका भरने के निर्देश

नवभारत न्यूज भोपाल,

राजधानी में हुए सरकारी गेहूं-चावल घोटाला मामले के संचालक विक्की ट्रेडर्स के संचालक अयाज अली की ओर से दायर अग्रिम जमानत याचिका को अपर सत्र न्यायाधीश आरएस चुण्डावत की अदालत ने मंजूर कर लिया.

आरोपी को निर्देश दिए गए हैं कि वह 60 दिवस के अंदर संबंधित अधिकारी के समक्ष उपस्थित होकर एक लाख रुपए की जमानत और इतनी ही राशि का निजी मुचलका पेश करे. आरोपी की ओर से एडवोकेट मो.मेहबूब अंसारी और सै. रियाज हसन ने अग्रिम जमानत याचिका दायर कर दलीलें पेश कीं कि आरोपी के गोडाउन से बरामद किया गया खाद्यान्न बीनने और छानने के लिए लाया गया था.

मो. मेहबूब अंसारी ने इस संबंध में दस्तावेज भी पेश किए. जबकि सरकारी वकील ने आरोपी के अपराध को गंभीर बताते हुए उसे जमानत दिए जाने का विरोध किया था.

न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के पश्चात अग्रिम जमानत याचिका मंजूर कर आरोपी को निर्देश दिए कि वह 60 दिवस के अंदर संबंधित पुलिस अधिकारी के समक्ष उपस्थित होकर एक लाख रुपए की जमानत और इतनी ही राशि का निजी मुचलका पेश करे.

इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ निशातपुरा थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. इससे पहले अदालत ने आरोपी अरविंद साहू की ओर से दायर की गई अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया था.

Related Posts: