13mm55पांढुरना,  विश्वप्रसिध्द गोटमार मेला यहां परंपरागत रूप से मनाया गया. प्रशासन द्वारा किए सुरक्षा उपायों के बीच पांढुरना तथा सावरगांव पक्ष के योध्दाओं ने अल सुबह से शाम तक जांबाज प्रदर्शन किया. मेले का 70 हजार से अधिक लोगों ने लुत्फ उठाया. पत्थरों के भरपूर प्रहारों से दोनों पक्षों के लगभग 650 से भी अधिक लोग घायल हुए. हालांकि प्रशासन ने 200 के घायल होने की पुष्टि की है.

6 लोग गंभीर हैं, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद नागपुर रैफर किया है. ढलते सूरज की सीधी किरणों के कारण पांढुरना पक्ष के योध्याओं ने सावरगांव पक्ष के योध्दाओं पर पत्थरों से बौछार कर उन्हें मैदान छोडऩे विवश कर दिया.

Related Posts: