दार्जिलिंग,  पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में आंदोलनरत गोरखा कार्यकर्ताओं ने वर्ष 2011 में हस्ताक्षरित गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन(जीटीए) की आज प्रतियां जलायी और राज्य सरकार के साथ किसी प्रकार के जुड़ाव को खारिज करते हुये कहा कि अब इस आंदोलन को और तेज किया जायेगा।

एक तरफ जहां अर्द्ध-सैनिक बल और पुलिस के जवान सड़कों पर दोनों ओर तैनात थे, वहीं हजारों गोरखा समर्थक चौरास्ता के समीप एकत्र हुए और त्रिपक्षीय जीटीए समझौते की प्रतियाें को आग लगा दी।

इस मौके पर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ( जीजेएम ) के सहायक सचिव विनय तमांग ने जीटीए समझौते की प्रतियां जलाये जाने की घोषणा की।

Related Posts:

'काका' ने कहा 'अलविदा'
प्रधानमंत्री को पद पर रहने का अधिकार नहीं : जेटली
प्रिंसिपल से ट्रेन में लूट, राष्ट्रपति अवार्ड लेने जा रही थी दिल्ली
श्रीनगर के शिया बहुल इलाकों में दूसरे दिन भी कर्फ्यू जैसे हालात
सजा से संतुष्ट नहीं हूं, आगे भी लडूंगी कानूनी लडायी : जाकिया जाफरी
जाधव की माँ और पत्नी के साथ हुये दुर्व्यवहार की निंदा