deepaरियो डी जेनेरियो,  रियो ओलंपिक में इतिहास रच चुकी दीपा करमाकर अब जिमनास्टिक के फाइनल में अपनी जगह बना चुकी हैं. दीपा आर्थिक तंगी और हर तरह की परेशानी का सामना करते हुए गोल्ड मेडल जीतने से एक कदम दूर हैं.

दीपा के करीबियों के अनुसार जब दीपा करमाकर ने जब पहली बार जिमनास्टिक प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था, तब उनके पास न जूते थे और न ही प्रतियोगिता में पहनने के लिए कॉस्ट्यूम था. दीपा ने जो उधार का कॉस्ट्यूम लिया था, वह उन पर पूरी तरह से फिट भी नहीं हो रहा था, लेकिन दीपा ने हार न मानते हुए अपनी प्रैक्टिस जारी रखी.

Related Posts: