bpl1भोपाल,  गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को थाना परिसर में अध्ययन करवाने वाली भोपाल पुलिस सामुदायिक सेवा की प्रेरणा दे रही है. उन्होंने कहा कि डीआईजी डॉ. रमन सिंह सिकरवार का यह नवाचार सामुदायिक सेवा का मॉडल है.

गृहमंत्री गौर सोमवार को गोविंदपुरा पुलिस थाना परिसर में बाल संजीवनी केन्द्र, बच्चों की अनौपचारिक पाठशाला का शुभारंभ कर रहे थे. उन्होंने केन्द्र की व्यवस्थाओं के लिये 25 हजार की सहायता राशि
प्रदान की.

पूर्व महापौर कृृष्णा गौर ने कहा कि हनुमानगंज थाना के बाद गोविंदपुरा थाना परिसर में बच्चों की पाठशाला शुरू करने से क्षेत्र के स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को पढ़ाई से जोड़ा जा सकेगा. पार्षदों ने केन्द्र की व्यवस्थाओं को आवश्यक धन राशि और अन्य सहयोग देने की बात कही. बच्चों से गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने चर्चा की.

Related Posts: