25as11भोपाल, 25 फरवरी,नभासं. राज्य के वित्तमंत्री जयंत मलैया ने बुधवार को विधानसभा में अगले वित्तीय वर्ष का  बजट पेश किया. कई उत्पादों पर बजट में वैट बढ़ाया गया है जिससे राज्य में मकान बनाने का सपना महंगा हो गया है. क्योंकि मकान बनाने के काम में आने वाली निर्माण सामग्री पर वैट की दर में बढ़ाई गई है. उधर, प्रदेश सरकार ने हवाई यात्रा सस्ती कर दी है.

मप्र में एविएशन गैस पर वैट की दर को घटाया गया है.हालांकि, प्रदेश सरकार ने 40 वस्तुओं पर वैट की दर कम कर लोगों को राहत देने की कोशिश की है. विधानसभा में वित्त मंत्री जयंत मलैया ने वर्ष 2014-15 का अनुमानित 383 करोड़ रुपए घाटे का बजट पेश किया गया. इसमें अनुमानित प्राप्तियां एक लाख 30 हजार 815 करोड़ रुपए बताई गई हैं, जबकि खर्च एक लाख 31 हजार 199 करोड़ अनुमानित है. वित्तमंत्री ने करीब 40 वस्तुओं पर वैट कम किया है. वहीं कुछ वस्तुओं पर वैट की दर में बढ़ोतरी की गई है. मकान निर्माण सामग्री की कीमतों में प्रति घनमीटर 20 से बढ़ाकर 35 रुपए कर दिया गया है.

बजट: एक नजर

एक लाख 31 हजार 199 करोड़ रुपए का बजट

पिछले साल की तुलना में करीब 20 हजार करोड़ अधिक

एक लाख 14 हजार 422 करोड़ कुल राजस्व आय

पूंजीगत परिव्यय में 13.8 प्रश वृद्धि

राजस्व व्यय में 9.9 प्रश वृद्धि

कुल ऋ ण गत वर्ष के 20.7 प्रतिशत से घटकर 19.6 प्रतिशत रह गया है।

ब्याज भुगतान मात्र 7.04 प्रतिशत, जो वर्ष 2003-04 में 22 प्रतिशत था

वेतन-भत्तों के व्यय में लगातार कमी, वर्तमान में मात्र 22.63 प्रतिशत

अधोसंरचना विकास को प्राथमिकता

सड़कों के लिये 5 हजार 900 करोड़

ग्रामीण सड़कों के लिये 2 हजार 800 करोड़

ऊर्जा के लिये 9700 करोड़ सिंचाई के लिये 7400 करोड़

कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र के लिये 19 हजार 600 करोड

अजा, जजा, पिछड़ा वर्ग कल्याण के लिये 22 हजार 500 करोड़

महिला एवं बाल विकास के लिये 4,400 करोड़

स्कूली शिक्षा के लिये 15 हजार 700 करोड़

कौशल विकास और निवेश को बढ़ाने के लिये आवश्यक व्यवस्था

कानून-व्यवस्था के लिये 5 हजार पुलिस जवान की भर्ती का प्रावधान

पर्यटन, खेल-कूद और संस्कृति को बढ़ावा

सिंहस्थ आयोजन के लिये पर्याप्त प्रावधान

नवकरणीय ऊर्जा के लिए 54 करोड़ का बजट, 29 हजार 500 मेगावाट उत्पादन

क्षमता निर्मित करने का लक्ष्य

बजट में पर्यावरण विकास पर भी जोर, 96 शहरों की विकास परियोजनाएं हुई तैयार

स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान पर जोर

शिक्षा के क्षेत्र में बजट बढ़ाया, पिछले वर्ष की तुलना में 896करोड़ ज्यादा, उच्च शिक्षा के लिए 683 करोड़ रु. ज्यादा

खंडवा और बैतूल में दो बिजली परियोजनाएं का विस्तार होगा

पासपोर्ट के लिए अब ग्रामीण और निजी बैंक की फोटोयुक्त पासबुक भी एड्रेस प्रूफ के लिए मान्य

जल प्रदाय कार्यों के लिए 2 हजार 242 करोड़ का प्रावधान

 

Related Posts: