shivrajभोपाल,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में 30 मई को होने जा रहा उपचुनाव मतदान सिर्फ वोटों की गणना के लिए नहीं उपचुनाव क्षेत्रीय विकास और जनता के कल्याण के अवसर जुटाने का एक अवसर है.

मंगलसिंह की विजय इस क्षेत्र की जनता के कल्याण की गारंटी होगी. उन्होंने कहा कि हाल के चुनाव में कांग्रेस अपनी निष्क्रियता के कारण अस्ताचल की ओर बढ़ी है और प्रदेशो की जनता ने भारतीय जनता पार्टी की स्वीकार्यता पर अपनी मोहर लगाई है. पूर्वोत्तर और दक्षिण में भारतीय जनता पार्टी का विस्तार हुआ है. घोड़ाडोंगरी की जनता क्षेत्रीय विकास के लिए 30 मई को कमल का बटन दबाकर भारतीय जनता पार्टी को विजयी बनायेगी.

शिवराज सिंह चौहान घोड़ाडोंगरी क्षेत्र में चुनाव प्रचार अभियान के सिलसिले में रोड शो को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि प्रदेश में गांव, गरीब और किसान के दिन फि रे हैं और भाजपा की सरकार ने उनके चहुमुखी विकास का मार्ग प्रशस्त किया है. 2003 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद प्रदेश की तस्वीर और जनता की तकदीर बदली है. किसानों के लिए सिंचाई बिजली, ग्रामीण सड़कों, शिक्षा स्वास्थ्य का बंदोबस्त हुआ है. लंबे समय तक कांग्रेस सत्ता में रही लेकिन उसने किसानों के फ सल पर कर्ज में 18 प्रतिशत ब्याज लेकर शोषण किया जिससे किसान कर्ज के भार में दब गया.

भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता में आने के बाद फ सल कर्ज को घटाया और अब 0 प्रतिशत पर किसानों को कर्ज देकर खुशहाली का मार्ग प्रशस्त किया है. खाद, बीज के लिए किसान यदि 1 लाख रू.कर्ज लेता है तो उसे कर्ज चुकाने के समय 10 प्रतिशत की छूट दी जायेगी, उसे 90 हजार रू. मूलधन के रूप में लौटाना पड़ेंगे. जनता को फैसला करना है कि कांग्रेस यह उदार सुविधा पहले क्यों नहीं दे पाई.
कांग्रेस ने गांव, गरीब और किसान को महज वोट बैंक समझा और पिछड़ेपन में बनाये रखा, क्योंकि जनता का पिछड़ापन कांग्रेस के लिए वोट बैंक की गांरटी थी. भारतीय जनता पार्टी ने सुविधाएं देकर प्रदेश के अन्नदाता का कर्ज चुकाया है और आगे भी गांव, गरीब और किसान की समुन्नति के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी.

रोड शो को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में हर व्यक्ति को रोटी कपड़ा और मकान की गारंटी दी गई है. आने वाले दिनों में प्रदेश में कोई भी व्यक्ति आवासहीन नहीं रहेगा. प्रदेश की धरती पर भूख का नामोनिसान मिटाने के लिए प्रदेश सरकार ने बीपीएल और अनुसूचित जाति, जनजाति के परिवारों के लिए गेहूं-चावल, आयोडीन नमक 1 रू. किलों देने की व्यवस्था की है। मजदूर एक दिन की मजूदरी में पूरे महीने का राशन प्राप्त करके खुशहाली के मार्ग पर बढ़ रहा है.

Related Posts: