mमुंबई , रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने व्यापारियों और छोटे कारोबारियों को बड़ी राहत देते हुये चालू खातों से नकद निकासी की साप्ताहिक सीमा समाप्त कर दी है, साथ ही आम लोगों की सुविधा के लिए एटीएम से निकासी की सीमा भी 01 फरवरी से समाप्त हो जायेगी। हालाँकि, बचत खातों से निकासी की 24 हजार रुपये साप्ताहिक की सीमा अभी बरकरार रखी गयी है।

केंद्रीय बैंक ने आज जारी एक अधिसूचना में कहा कि अब नोटबंदी से पहले की स्थिति “आंशिक रूप से” बहाल कर दी गयी है। उसने बताया कि चालू खाते, ओवरड्राफ्ट खाते और कैश क्रेडिट खाते से निकासी पर नोटबंदी के बाद से विभिन्न अधिसूचनाओं द्वारा लागू की गयी सीमाएँ तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गयी हैं। इन खातों से निकासी की सीमा अभी एक लाख रुपये प्रति सप्ताह है। उसने बताया कि एटीएम से नकद निकासी की 10 हजार रुपये प्रतिदिन की सीमा भी 01 फरवरी से समाप्त हो जायेगी। हालाँकि, बचत खातों से निकासी की साप्ताहिक सीमा 24 हजार रुपये पर यथावत रखी गयी है।

इस प्रकार अब बचत खाताधारक एटीएम से एक ही दिन में 24 हजार रुपये तक निकाल सकेंगे। नोटबंदी के बाद एटीएम से निकासी की सीमा पहले दो हजार रुपये प्रतिदिन रखी गयी थी जिसे चरणबद्ध तरीके से बढ़ाते हुये 16 जनवरी से 10 हजार रुपये दैनिक किया गया था।

अधिसूचना में बचत खातों से निकासी सीमा के बारे में कहा गया है “बचत खातों से निकासी की सीमा फिलहाल जारी रहेगी और भविष्य में इसे हटाने पर विचार जारी है।” एटीएम से निकासी की सीमा के बारे में इसमें कहा गया है कि बैंक चाहे तो अपनी परिचालन सीमाएँ देखते हुये अपनी ओर से सीमाएँ तय कर सकते थे जैसा कि 08 नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा से पहले प्रावधान था।

Related Posts: