pranav1नयी दिल्ली, 3 सितंबर. राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती पर भरोसा जताते हुए आज कहा कि मुद्रास्फीति की नीची दर, पर्याप्त विदेशी मुद्रा भंडार और चालू खाता घाटा नियंत्रित रहने से चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर का लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा।

श्री मुखर्जी ने यहां इंजीनियरिंग निर्यात संवर्द्धन परिषद (ईईपीसी) की स्थापना के 60 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में डायमंड जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार मजबूत है और वैश्विक अर्थव्यवस्था के उतार चढ़ाव को झेल लेगी।

Related Posts: