rahul-gandhi-नई दिल्ली, 4 अगस्त. कांग्रेस के 25 सांसदों को लोकसभा से सस्पेंड किए जाने के विरोध में मंगलवारको संसद में जमकर बवाल हुआ।

तानाशाही बंद करो और हमें न्याय दो के नारों के साथ विपक्षी दलों के सांसदों ने राज्यसभा की कार्यवाही नहीं चलने दी। ऐसे में राज्यसभा को 12 बजे तक स्थगित करना पडा। हालांकि लोकसभा की कार्यवाही जारी रही। दूसरी तरफ अपने 25 सांसदों को सस्पेंड किए जाने से नाराज कांग्रेस मंगलवार को संसद परिसर में धरने पर बैठ गई। गांधी मूर्ति के सामने कांग्रेस के सभी सांसद हाथ पर काली पट्टी पहन कर पहुंचे।

इसमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से लेकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी तक सभी दिग्गज नेता शामिल हुए।

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा, मोदी सरकार चाहे तो हम सभी (सांसदों) को बाहर फेंक दे लेकिन हम प्रेशर कम नहीं करेंगे, इस्तीफे की मांग करते रहेंगे। सरकार 25 सांसदों के साथ ही ऐसा नहीं कर रही है बल्कि देश की जनता, किसान, छात्र, इंटरनेट सभी जगह यही मनमानी हो रही है। मोदी को मन की बात करने की आदत है, कभी वह हिंदुस्तान के मन की भी बात सुन लें।

सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस के 25 सांसदों को सस्पेंड करने का फैसला लोकतंत्र की हत्या है। धरना-प्रदर्शन में शामिल सांसद- मोदी सरकार हाय-हाय के नारे लगाए।

Related Posts: