प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया से बातचीत

प्रवेश कुमार मिश्र,

चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में मिली विजय से कांग्रेसी नेताओं के हौसले बुलंदी पर है. पार्टी नेता मान रहे हैं कि संख्या के हिसाब से भले ही यह एक सीट है लेकिन सामने जब पूरी सरकार खड़ी हो तो न सिर्फ इस लडाई का दायरा बदल जाता है बल्कि उदेश्य व आयाम भी दूरगामी प्रभाव डालने वाला हो जाता है.

इसलिए पार्टी इस विजय को मध्यप्रदेश फतह की शुरुआती रूझान मान रही है.चित्रकूट विजय पर प्रदेश के कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया ने नवभारत से खास बातचीत में बताया कि जनता ने इस लडाई में जिस तरह से पार्टी का साथ दिया है उससे साफ है कि अब शिवराज सिंह चौहान सरकार से लोग ऊब गए हैं.

बाबरिया ने बताया कि जिस तरह से एक विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री समेत दर्जनों मंत्री, सांसद व विधायक डेरा डाले हुए थे उससे उनकी बेचैनी को समझा जा सकता है. लेकिन चित्रकूट की जनता ने जिस तरह से भाजपा को नकारा है वह सरकार के विकास के दावों की पोल खोलने के लिए काफी है.

उन्होंने कहा कि 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले इस विजय से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं का उत्साह वर्धन हुआ है. इस लडाई में जिस तरह से पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने एकजुट होकर जीत के लिए माहौल तैयार किया उससे निश्चित ही भविष्य की चुनौतियों से लडऩे में पार्टी को मजबूती मिलेगी. बाबरिया ने कहा कि यह फतह कांग्रेस के उदय के साथ-साथ भाजपा सरकार के अस्त की शुरुआत है.

 

Related Posts: