pranabबीजिंग,  राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आज कहा कि चीन ने भारत के साथ सीमा विवाद का शीघ्र, तर्कसंगत और दोनों पक्षों को स्वीकार्य समाधान ढूंढने का संकल्प व्यक्त किया है और आतंकवाद के मुद्दे पर सहयोग बढ़ाने का आश्वासन दिया है।

श्री मुखर्जी ने चीन की यात्रा की समाप्ति पर जारी आधिकारिक वक्तव्य में कहा कि चीन के नेतृत्व ने सीमा विवाद का उचित और दोनों पक्षों को स्वीकार्य समाधान शीघ्र ढूंढ़ने का संकल्प जताया है। उन्होंने कहा कि चीन के नेतृत्व के साथ भारत की सहमति बनी है कि सीमा के मसले का शीघ्र समाधान ढूंढ़ने के साथ ही सीमा प्रबंधन में सुधार किया जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि सीमा के इलाकों में शांति और सद्भाव कायम रहे।

राष्ट्रपति ने कहा कि चीन के नेताओं के साथ उनकी मुलाकात में आंतकवाद का मुद्दा भी उठा और इस बुराई के खिलाफ संघर्ष करने के लिए सभी देशों के व्यापक सहयोग पर जोर दिया गया। उनकी बैठकों में आतंकवाद महत्वपूर्ण विषय रहा और उन्होंने चीन के नेताओं से कहा कि आतंकवाद की बढ़ रहे कृत्यों पर पूरी दुनिया में चिंता है और भारत लगभग पैंतीस साल तक आंतकवाद से प्रभावित रहा है।

Related Posts: