dalai_lamaवाशिंगटन,  अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चीन के सख्त विरोध के बावजूद आज व्हाइट हाउस में तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा से मुलाकात की। चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति और दलाई लामा के बीच होने वाली इस मुलाकात को लेकर कूटनीतिक माध्यम से अपना विरोध दर्ज कराया था। हालांकि दलाई लामा ने इस अवसर पर ओबामा से कहा कि वह चीन से तिब्बत की स्वतंत्रता नहीं मांग रहे हैं और उन्होंने उम्मीद जताई कि चीन से वार्ता जल्द ही शुरू होगी।

अमेरिकी राष्ट्रपति के प्रवक्ता जोश अर्नेस्ट ने कहा “दोनों नोबल पुरस्कार विजेता नेताओं की मुलाकात से तिब्बत पर अमेरिका के रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। दरअसल राष्ट्रपति ओबामा के पिछले आठ वर्ष के कार्यकाल में यह चौथा ऐसा मौका है जब उन्होंने व्हाइट हाउस में दलाई लामा से मुलाकात की है। मैं एक बार फिर से यह दोहराना चाहूंगा कि तिब्बत को लेकर अमेरिका के रूख में कोई बदलाव नहीं आया है।”

चीन के विदेश मंत्रालय ने इस मुलाकात पर विरोध दर्ज कराते हुए कहा था कि चीन निर्वासित तिब्बती बौद्ध नेता दलाई लामा को खतरनाक अलगाववादी मानता है और अमेरिकी राष्ट्रपति से उनकी भेंट का अलगाववादियों में गलत संदेश जा सकता है। इससे अलगाववादी तिब्बत में अस्थिरता पैदा करने का प्रयास कर सकते हैं।

Related Posts: