chinaबीजिंग,  चीन ने अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ दलाई लामा की संभावित भेंट और ताईवान की नयी राष्ट्रपति की भावी अमेरिका यात्रा से पहले वाशिंगटन को पृथकतावादी गतिविधियों का समर्थन नहीं करने के उसके वादे की याद दिलायी है और उसने इस संबंध में उसे आगाह किया है।

स्वशासित लोकतांत्रिक द्वीप ताईवान तथा पर्वतीय क्षेत्र तिब्बत चीन के लिए राजनीतिक तथा कूटनीतिक दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्र है। दोनों क्षेत्रों की गतिविधियों को लेकर वह दूसरे देशों को आगाह करता रहता है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कंग ने कहा कि दोनों क्षेत्रों से संबंधित मुद्दे उसकी नीतियों से जुडे हैं। चीन दोनों क्षेत्रों को अपना हिस्सा मानता है। चीन दूसरे देशों को भी अपने इस रूख को स्वीकार करने के लर्ए दबाव डालता रहता है।
ताईवान की राष्ट्रपति सई इंगवेन पनामा जाते हुये मियामी में रूक रही हैं। वह 24 जून से दो जुलाई की विदेश यात्रा पर जा रही हैं। दलाई लामा इन दिनों अमेरिका की यात्रा पर हैं1

Related Posts: