chennai5चेन्नई,  चेन्नई में शुक्रवार को अस्पताल में 18 बाढ़ पीडि़तों को मौत हो गई. इन सभी को वेंटिलेटर पर रखा गया था और लोगों का आरोप है कि अचानक बिजली चले जाने के कारण वेंटिलेटर ने काम करना बंद कर दिया. इसी वजह से इन लोगों की मौत हुई.

इस अस्पताल में 575 बाढ़ पीडि़तों का इलाज किया जा रहा है और इनमें से 75 वेंटिलेटर पर थे. 18 लोगों की मौत के बाद बाकी के 57 लोगों को तुरंत दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस मुद्दे पर तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्णन ने कहा कि मौत की वजह साफ नहीं है और जिनकी मौत हुई है उनकी हालत बेहद गंभीर थी.

उधर, चेन्नई में शुक्रवार सुबह बारिश थमने से लोगों ने राहत की सांस ली. चेन्नई और इसके आसपास के इलाकों में बारिश थमने के चलते बाढ़पीडि़त नागरिकों और बचाव एजेंसियों को राहत मिली है जबकि बाढ़ का पानी तेजी से घटने की उम्मीद बढ़ी है. लेकिन अभी मुसीबतें अभी कम नहीं हुई हैं. इस बीच एनडीआरएफ की एक टुकड़ी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करके जरूरमंद लोगों की मदद कर रही है. यहां के सभी स्कूल,कॉलेजों को पांंच दिसंबर तक के लिए बंद कर दिया गया है.