भोपाल,  मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में किसानों के उग्र आंदोलन के दौरान गोलीबारी में छह लोगों की मौत के एक दिन बाद आज पुलिस प्रशासन के सख्त सुरक्षा प्रबंधों के बीच राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के प्रदेश बंद के आह्वान का राज्य के पश्चिमी हिस्से में व्यापक असर दिखाई दिया, राज्य के हिंसाग्रस्त इलाकों में उग्र प्रदर्शन, आगजनी और हिंसक घटनाओं की सूचनाएं प्राप्त हुयी हैं।

राजधानी भोपाल के मुख्य बाजारों में बंद का ज्यादा असर नहीं दिखा। राजधानी के मुख्य चौक बाजार, सर्राफा और न्यूमार्केट समेत अन्य सभी व्यावसायिक क्षेत्र खुले रहे, लेकिन पुलिस ने ऐहतियातन सभी आवश्यक उपाय किए थे। अतिरिक्त पुलिस बल संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात रहा। हालाकि सत्ता के गलियारों में किसान आंदोलन की चर्चा ही छायी रहीं। मिसरोद क्षेत्र के अलावा नए भोपाल के कुछ क्षेत्रों में कतिपय कांग्रेस नेताओं ने दुकानें आदि बंद कराने का प्रयास किया।

यहां मिली खबरों के मुताबिक अब तक आंदोलन का प्रमुख केंद्र रहे इंदौर जिले के कई हिस्से पूरी तरह बंद हैं। किसानों की गतिविधियों से जुड़े इंदौर के राऊ, सांवेर, मांगलिया, देवगुराड़िया आदि क्षेत्रों में बंद का व्यापक, जबकि मुख्य बाजारों में बंद का मिला-जुला असर है। वहां प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद ऐहतियातन कुछ स्थानों पर सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की बसों की आवाजाही प्रभावित रही। इंदौर में कल कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी की अगुवाई में हजारों किसानों के कलेक्ट्रेट तक पहुंचने और बाद में श्री पटवारी को हिरासत में लेने के बाद आज सुबह से कांग्रेस के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर व्यापारियों से प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील करते रहे।

इंदौर से सटे उज्जैन में भी व्यापारियों ने शांतिपूर्ण बंद किया है। सुबह कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय पर मोटरसाइकिलों से निकलते हुए लोगों से अपने प्रतिष्ठान बंद करने की अपील की। प्रशासनिक अमला जिला मुख्यालय पर विभिन्न क्षेत्रों में सुबह से गश्त पर है। उज्जैन में ऐहतियातन प्रशासन ने इंटरनेट और संचार सेवाओं पर रोक लगा दी है। उज्जैन संभाग के अधीन आने वाले मंदसौर और नीमच में आज भी हिंसक घटनाएं हुयीं। इसके अलावा शाजापुर, आगरमालवा, धार, खरगौन, बडवानी, खंडवा, बुरहानपुर, सीहोर और पश्चिमी मध्यप्रदेश के अन्य हिस्सों में भी बंद का मिलाजुलआ असर होने की खबरें पहुंची हैं।

सीहोर में कल किसानों के प्रदर्शन के बाद आज जिले के आष्टा में व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे हैं, जबकि इछावर और जिला मुख्यालय इससे कम प्रभावित दिखाई दिए। कुछ लोगों ने भोपाल इंदौर मार्ग से गुजर रही चार्टर्ड बस में यात्रियों को उतारकर आष्टा के पास आग लगा दी। इसके पहले बस में तोडफोड भी की गयी। अब तक उग्र आंदोलन का सामना कर रहे नीमच और मंदसौर के करीबी रतलाम में बंद का मिला-जुला असर दिखा।

महाराष्ट्र की सीमा से लगे बड़वानी में भी बंद का मिला-जुला असर देखने को मिला। जिले के बोरलाय में आज किसानों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंदसौर की घटना पर विरोध प्रदर्शन करते हुए खंडवा-बड़ोदरा राजमार्ग पर चक्काजाम कर कलेक्टर तेजस्वी नायक को ज्ञापन सौंपा। वहीं सेंधवा में भी कांग्रेस ने रैली निकाली। बंद का समर्थन कर रही कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के के मिश्रा का दावा है कि प्रदेश में बंद का व्यापक असर रहा। उसके विभिन्न नेता अलग अलग स्थानों पर बंद के समर्थन में सडकों पर रहे।

उन्होंने बताया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर आने का कार्यक्रम तय हुआ है और वे कल मंदसौर जिले में पहुंचने का प्रयास करेंगे। वहीं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष अरुण यादव भी मंदसौर जिले की सीमा में पहुंचने में कामयाब रहे। बंद का आह्वान करने वाले राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के प्रदेश प्रवक्ता सुनील गौर ने कहा कि अाज दोपहर दो बजे तक बंद का आह्वान था।

सभी व्यापारियों और व्यावसायिक संगठनों से प्रदेश के किसानों के हित में अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का आग्रह किया गया था, जिसका खासा असर दिखायी दिया। मंदसौर में कल उग्र प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प के बाद गोलीबारी में छह लोगों की मौत हो गई थी, जबकि कम से कम दो लोग घायल हुए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर दु:ख जताते हुए मारे गए लोगों के परिजन को एक-एक करोड रूपए की सहायता और एक-एक परिजन को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार घायलों का नि:शुल्क इलाज कराएगी और उन्हें सहायता के रूप में पांच पांच लाख रूपए देगी।

Related Posts:

स्कूली ड्रेस खरीदने के लिए जारी दर्जनों चैक हुए बाउंस
पर्रिकर ने समुद्री गश्त विमान राष्ट्र को समर्पित किया
रेल बजट से खिलेगी गरीब, युवा, महिलाओं,मध्य वर्ग की मुस्कान : मोदी
मोदी को दक्षेस सम्मेलन के लिए शरीफ का आमंत्रण
अमेरिका में हुये बम विस्फोटों के बाद विश्व नेताअों से मिले क्लिंटन और ट्रंप
पाकिस्तान ने सांबा,जम्मू,राजौरी और पुंछ में की गोलाबारी, सात की माैत,18 घायल