21Sidhi7सीधी, 21 जून. देश में इकलौते जर्जर जानलेवा गड्ढों को लेकर चर्चित रहे सीधी जिला मुख्यालय के शहर की मुख्य एनएच-75 में रही सड़क के सुधार के लिए शासन-प्रशासन से आशा टूटने के बाद सड़क की दुर्दशा की ओर ‘नवभारतÓ ने मुहिम चलाकर सीधी की जनता में ऐसी अलख जगाई की सड़क सुधार में सड़क पर उतरी जनता ने 20 दिन में शहर के सड़क की सूरत ही बदल दी.

रीवा से सिंगरौली एनएच-75 के निर्माण हेतु सीधी जिला मुख्यालय शहर की मुख्य सड़क बायपास के कारण एनएच-75 से बाहर होने और इस 9.4 किलोमीटर मार्ग को म.प्र.शासन लोक निर्माण विभाग मंत्रालय भोपाल के एक आदेश के तहत नगर पालिका परिषद् सीधी को जर्जर हालत में बिना मेन्टीनेंस और बजट के हस्तांतरित कर दी गई थी.

स्वीकति के पश्चात भी सड़क मरम्मत का कोई उपाय नहीं किया गया. जिससे बरसात में इस खस्ताहाल-जानलेवा गड्ढों वाली सड़क के सुधार हेतु शहर के प्रमुख लोगों ने सड़क बनाओ-सीधी बचाओ गैर राजनैतिक श्रमदान जनभागीदारी अस्थायी समिति का गठन कर 2 जून से सड़क सुधार का कार्य शुरू करने सड़क पर उतर आई जनता ने आज 21 जून तक 20 दिन में अर्जुन तोरण द्वार जमोड़ी से जोगीपुर तोरण द्वार तक 9.4 किलोमीटर के बीच आने वाले जानलेवा गड्ढों को भरकर सड़क की सूरत बदल जनभागीदारी का एक इतिहास रच दिया.

Related Posts:

यूपीए के तीन वर्ष होने पर कांग्रेस की बैठक
35 महीने में मीरा ने की 29 विदेश यात्रा
गांवो में 2013 जनवरी से 24 घंटे बिजली : मलैया
सड़क निर्माण में गड़बड़ी से मौत होने पर दर्ज होगी प्राथमिकी
बेकाबू रेत माफिया ने ली वनकर्मी की जान, अवैध रेत से भरा ट्रैक्टर वनकर्मी पर चढ़ा...
पीएम के कार्यक्रम में शहंशाह की उपस्थिति पर बवाल