मामला संज्ञान में लेकर पुलिस ने जांच शुरू की

नवभारत न्यूज शिवपुरी,

जनपद पंचायत करैरा के कार्यालय में आज उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब जनपद पंचायत प्रांगण में एक आदिवासी जनपद सदस्य ने सीईओ के साथ मारपीट की घटना अंजाम दे डाला।

इतना ही नहीं सीईओ के फाईल से कुछ शासकीय दस्तावेज भी फाड़ डाले। जिसका बीच बचाव उपस्थित कर्मचारियों द्वारा कराया गया। जिसकी रिपोर्ट जनपद सीईओ द्वारा करैरा

थाने में कराई गई है। वहीं दूसरी तरफ से जनपद सदस्य कुसुम आदिवासी ने जनपद सीईओ श्री गोस्वामी के खिलाफ एक आवेदन के माध्यम से अश्लील भाषा प्रयोग करने का आरोप लगाया हैं। पुलिस ने मामला संज्ञान में लेकर जांच शुरू कर दी हैं।

जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत अधिकारी श्री गोस्वामी जब अपने निवास से आवश्यक दस्तावेजों को लेकर शिवपुरी शासकीय कार्य से लगभग 11 बजे आ रहे थे। उसी समय जनपद सदस्य कुसुम आदिवासी ने सीईओ से जनपद निधि की राशि के बारे में जानकारी चाही गई तथा कहा कि इस राशि को मेरे खाते में डाल दो।

जिस पर सीईओ का कहना था कि उक्त धनराशि पंचायत के खाते में डाली जाती हैं किसी के निजी खाते में नहीं डाली जाएगी। जिसे लेकर श्री गोस्वामी एवं जनपद सदस्य कुसुम आदिवासी के बीच तू-तू मैं-मैं हो गई।

यह तू-तू मैं-मैं इस हद तक बड़ी की मामला मारपीट तक पहुंच गया। कुसुम आदिवासी ने जनपद सीईओ चप्पल भी मार दी। जिसकी शिकायत जनपद सीईओ द्वारा थाना करैरा में की गई। पुलिस ने जनपद सदस्य कुसुम आदिवासी के विरूद्ध मामला दर्ज कर लिया है।

वहीं जनपद सदस्य कुसुम आदिवासी ने सीईओ पर आरोप लगाते हुए एक आवेदन के माध्यम से कहा है कि श्री गोस्वामी द्वारा उसके साथ अभद्र भाषा का उपयोग किया है।

बचाव में उतरे सदस्य

करैरा में जनपद सदस्य श्रीमती कुसुमा आदिवासी पर करैरा जनपद सीईओ द्वारा मारपीट का आरोप लगाया है। जिसकी रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जनपद सदस्य कुसुमा आदिवासी के बचाव में करैरा जनपद पंचायत के अन्य सदस्यों ने एक आवेदन थाना प्रभारी करैरा को देकर जनपद सीईओ श्री गोस्वामी के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। लेकिन थाना प्रभारी ने सभी सदस्यों का आवेदन लेकर प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।

 

Related Posts: