jayaचेन्नई,   तमिलनाडु सरकार की तरफ से एक बार फिर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई को लेकर सुगबुगाहट दिखाई दे रही है. इस दिशा में सरकार ने केंद्र की मोदी सरकार को एक पत्र लिखा है.

इसमें राजीव गांधी के हत्यारों को सजा से माफी दिए जाने के राज्य सरकार के फैसले पर मोदी सरकार से राय मांगी गई है. राजीव गांधी के हत्या के मामले में 7 दोषी आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे हैं. तमिलनाडु की जयललिता सरकार इन दोषियों की रिहाई के पक्ष में है. इनमें से 3 दोषियों संथन, मुरुगन और पेरारिवलन को पहले मौत की सजा मिली थी.

लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इनकी मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया था. बाद में यूपीए सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की थी. लेकिन पिछले साल जुलाई में सुप्रीम कोर्ट ने इस पिटिशन को भी खारिज कर दिया.

इस साल जनवरी महीने में पेरारिवलन की मां ने तमिलनाडु सीएम स्पेशल सेल को एक याचिका भेजी थी. इसमें पेरारिवलन की रिहाई की मांग की गई थी.

Related Posts: