swaroopनयी दिल्ली,  भारत और जर्मनी ने पाकिस्तान के एक अखबार में आज प्रकाशित उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें विदेश सचिव एस जयशंकर द्वारा जर्मनी के राजदूत मार्टिन नेए के साथ बातचीत में सेना के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में आतंकवादी अड्डों पर सर्जिकल स्ट्राइक को मिथ्या दुष्प्रचार स्वीकार करने का दावा किया गया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने आज यहां कहा कि पाकिस्तानी अखबार ‘दि न्यूज़ इंटरनेशनल’ में प्रकाशित समाचार पूरी तरह से मनगढ़ंत और निराधार है। उन्होंने कहा कि 29 सिंतबर को विदेश सचिव ने 25 विदेशी राजदूतों को सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी दी थी जिसमें जर्मन राजदूत भी शामिल थे। उनके साथ विदेश सचिव की इस बारे में आगे कभी कोई बात नहीं हुई। यहां स्थित जर्मनी के दूतावास ने भी पाकिस्तानी अखबार की इस रिपोर्ट का खंडन किया है।

दूतावास से संपर्क किया गया तो दूतावास के अधिकारियों ने भी पाकिस्तानी अखबार की इस खबर को बेबुनियाद और सत्य से परे करार दिया। पाकिस्तानी अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि विदेश सचिव डॉ. जयशंकर ने श्री नेए के साथ हाल ही में हुई मुलाकात में स्वीकार किया है कि पीओके में भारतीय सेना ने कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि बर्लिन स्थित पाकिस्तानी दूतावास के एक अधिकारी की जर्मन विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के साथ हुई एक मुलाकात के दौरान जर्मन अधिकारियों ने इस बात का खुलासा किया है।

Related Posts: