katniभोपाल,  शराब कारोबारियों को लाभ पहुंचाने के मामले में फंसे कटनी कलेक्टर प्रकाश चंद्र जांगरे को आज उनके पद से हटा दिया गया.

जांगरे को मंत्रालय में उपसचिव बनाया गया है. इस संबंध में आज आदेश जारी हो गए. कल ही जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने जांगरे और कटनी के जिला आबकारी अधिकारी (डीईओ) आरसी त्रिवेदी के खिलाफ केस दर्ज किया था.

फर्जी डिमांड ड्रफ्ट मामले को संज्ञान में लेते हुए लोकायुक्त पुलिस ने इस प्रकरण को विवेचना में लिया था. विवेचना में पाया कि कलेक्टर और डीईओ ने निर्धारित दस प्रतिशत राशि जमा करवाये बिना ही दुकानदारों को लायसेन्स जारी कर दिये.

इतना ही नहीं, बिना राशि जमा किये ही वेयर हाउस से शराब उठाने की अनुमति भी प्रदान कर दी. ठेकेदारों ने इसी तरह 25 अप्रैल तक दुकान संचालित की, जिसके कारण सरकार को लगभग छह करोड़ रुपये की राजस्व क्षति हुई. लोकायुक्त ने प्रारंभिक जांच के बाद जिला कलेक्टर और डीईओं के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया था. इस मामले में आबकारी निविदा समिति के सदस्य कटनी के पुलिस अधीक्षक की भूमिका की भी जांच होगी.

Related Posts: