10pic1जम्मू /नई दिल्ली,  सियाचिन हिमनद में हिमस्खलन के बाद 25 फुट मोटी बर्फ की परत के नीचे दबा सेना का एक जवान आज चमत्कारिक रूप से छह दिनों बाद जिंदा मिला. लांस नायक हनमनथप्पा कोमा हैं. उन्हें दिल्ली में स्थित सेना के अस्पताल आरआर हास्पिटल में भर्ती कराया गया है. देशभर में उनके लिए दुआएं मांगी जा रही हैं.

दोपहर बाद उससे मिलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पहुंचे. सेनाध्यक्ष जनरल दलबीर सिंह सुहाग भी अस्पताल में मौजूद हैं. बर्फ के नीचे से छह दिन बाद चमत्कारिक ढंग से जीवित मिले लांस नायक हनमनथप्पा की हालत बेहद नाजुक है. वह अभी कोमा में हैं और अगले 48 घंटे बेहद अहम हैं. यूपी के पड़रिया, लखीमपुर की निधि पांडे ने हनमनथप्पा को अपनी किडनी देने की पेशकश की है. डॉक्टरों का कहना है कि हनमनथप्पा के शरीर के अंग तो काम कर रहे हैं लेकिन वह कोमा में हैं.

आरआर हॉस्पिटल की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक हनमनथप्पा के शरीर पर कोई बाहरी चोट नहीं है. उनका दिल और फेफड़े ठीक से काम कर रहे हैं. लेकिन छह दिन तक बर्फ में दबे रहने से उनके किडनी और लीवर को काफी नुकसान हुआ है. डॉक्टरों के मुताबिक लांस नायक हनमनथप्पा को न्यूमोनिया है. किडनी और लीवर को सपोर्ट देने के लिए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है.

डॉक्टर उनकी हालत पर बेहद नजदीकी से नजर रखे हुए हैं. डॉक्टरों के मुताबिक अगर हनमनथप्पा ये 48 घंटे निकाल लेते हैं और उनके स्वास्थ्य में अपेक्षित सुधार होता है तो वह सामान्य जिंदगी जी सकते हैं.

Related Posts: