lance_naikनई दिल्ली,  सियाचिन में 3 फरवरी को हुए भयंकर हिमस्खलन के बाद 6 दिन तक बर्फ के 25 फीट नीचे जिंदा रहकर अपनी जिजीविषा से पूरी दुनिया को हैरान कर देने वाले सेना के लांस नायक हनमनथप्पा गुरुवार सुबह 11.45 पर जिंदगी की जंग हार गए.

डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन उनकी हालत लगातार बिगड़ती गई और आखिरकार उनकी सांस छूट गई. पूरे देश में जगह-जगह उनके लिए प्रार्थना की जा रही थी. इस जांबाज की मौत की खबर पर सारे देश में शोक की लहर व्याप्त हो गई.

हनमनथप्पा को मंगलवार शाम दिल्ली के आरआर हॉस्पिटल लाया गया था. यहां विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम उनकी जान बचाने की कोशिश कर रही थी. एक डॉक्टर ने बताया कि हनमनथप्पा को जब हॉस्पिटल लाया गया, तो उन्हें हाइपोथर्मिया हो चुका था. नाम न दिए जाने की शर्त पर उन्होंने कहा, छह दिन तक बिना पानी के रहने की वजह से उन्हें जबर्दस्त डीहाइड्रेशन हो गया था.

उन्होंने कहा कि इतने दिनों तक विषम परिस्थितियों ने दिमाग समेत उनके शरीर के कई अंगों को बुरी तरह प्रभावित किया. उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की टीम ने तमाम कोशिशें कीं, लेकिन एक के बाद एक उनके शरीर के सभी अंगों ने काम करना बंद कर दिया. मेडिकल की भाषा में इसे मल्टिपल ऑर्गन फेल्योर कहा जाता है.

Related Posts: