नयी दिल्ली,

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की पत्नी और माँ के साथ वहाँ किये गये दुव्यवहार की सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों के सदस्यों ने आज एक सुर में निंदा की।

भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रह्मण्यम् स्वामी ने यहाँ संसद भवन परिसर में कहा कि जिस प्रकार से श्री जाधव की माँ और पत्नी का मंगलसूत्र उतारवाया गया वह द्रौपदी के चीरहरण के समान है।

उन्होंने सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कठोर कार्रवाई की माँग करते हुये कहा कि पाकिस्तान का अस्तित्व मिटा देना चाहिये। हालाँकि, सीधे यह पूछे जाने पर कि क्या वह पाकिस्तान के साथ युद्ध की वकालत करते हैं, श्री स्वामी ने कहा कि वह पाकिस्तान के साथ युद्ध की तैयारी की वकालत करते हैं।

श्री जाधव को पर जासूसी का आरोप लगाते हुये पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ने करीब दो साल पहले पकड़ा था और वहाँ की एक अदालत ने उन्हें फाँसी की सजा सुनाई थी।

भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को गलत बताते हुये हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत में इस सजा के खिलाफ अपील की थी। अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने श्री जाधव की फाँसी की सजा पर रोक लगा दी है, हालाँकि उसका अंतिम फैसला अभी नहीं आया है।

अंतर्राष्ट्रीय दबाव में पाकिस्तान ने 25 दिसंबर को श्री जाधव की माँ और पत्नी को उनसे मिलने का मौका दिया, लेकिन यह सिर्फ दिखावा साबित हुआ। मुलाकात के दौरान उनके बीच काँच की दीवार थी।

मुलाकात से पहले श्री जाधव की पत्नी और माँ की चूड़ियाँ, बिंदियाँ और यहाँ तक कि मंगलसूत्र तक उतरवा लिये गये। उनकी पत्नी की जूतियाँ तो बार-बार अनुरोध के बाद भी वापस नहीं दी गयीं।

कांग्रेस सांसद कपिल सिब्बल ने कहा कि पाकिस्तान से किसी और व्यवहार की उम्मीद भी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि सरकार को यह सोचना चाहिये कि वह पाकिस्तान से किस प्रकार का संबंध रखना चाहती है।

Related Posts: