बेंगलुरु,

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता और कर्नाटक के पार्टी प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए पलटवार किया कि जनता दल (एस) और कांग्रेस ऐसी ही राजनीति करती है।

भाजपा नेता ने आज जदएस नेता एच डी कुमारस्वामी के कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए उनकी पार्टी के विधायकों को लालच देकर तोड़ने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि वह भाजपा पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। भाजपा “हार्स ट्रेडिंग” नहीं करती । उन्होंने कहा कि कांग्रेस इसके लिए मशहूर है। उसके अपने विधायक इस गठबंधन से खुश नहीं है।

कर्नाटक की त्रिशंकु विधानसभा के बाद कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाने के लिए प्रयासरत श्री कुमारस्वामी ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने उनके विधायकों को 100.100 करोड़ रुपए और मंत्री पद देने का लालच दिया है।

भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक जिसमें बी एस येद्दियुरप्पा को विधायक दल का नेता चुना गया। बैठक के बाद श्री जावड़ेकर ने संवाददाताओं से कहा, “वास्तविकता यह है कि पार्टी तोड़ने को बढ़ावा देने का प्रचलन जद एस और कांग्रेस करती है। भाजपा ऐसा नहीं करती। जदएस और कांग्रेस दोनों के कुछ नाराज विधायक भाजपा के संपर्क में हैं।”

श्री कुमारस्वामी के 100 करोड़ रुपए देने के आरोप को श्री जावड़ेकर ने ‘कल्पना’ मात्र बताते हुए कहा कि जदएस और कांग्रेस ऐसी ही राजनीति करते हैं। उन्होंने कहा कि वह नियमों का पालन कर रहे हैं और उनका दल सबसे बड़ी एकल पार्टी के रुप में उभरी है। भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी होने के लिए कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल वजूभाई वाला को आमंत्रित करना चाहिए। पार्टी ने राज्यपाल के समक्ष सरकार बनाने का अपना दावा पेश किया है।