छतरपुर 25 मार्च नससे. रातो रात काग्रेंस से भाजपा में शामिल हो कर छतरपुर जिला पंचायत उपाध्यक्ष का पद हासिल करने वाले अमित पटैरिया का नाम बीते रोज कोतवाली थाना पुलिस को ग्राम दिदौनिया निवासी एक 85 वर्षीय वृद्व ने अपने शिकायती आवेदन में दिया हैं।

आवेदन की मानी जाये तो अमित पटैरिया ने वतोर दलाल फरियादी के दस लाख रूपये बैंक में जाम करने को कहा और फरियादी को पुलिस में शिकायती आवेदन देने को भी मना किया मगर फरियादी ने इन्साफं की गुहार पुलिस के सामने लगाई हैं। लगातार पुलिस के सामने परत दर परत घोटाले की शिकायते आ रही मगर पुलिस करोडो के बैंक घोटाले में शामिल प्रमुख दलाल एवं जिला पंचायत उपाध्यक्ष अमित पटैरिया पर पुलिस कोई भी कार्यवाही करने से लगातार बचती नजर आ रही हैं। 85 वर्षीय वृद्व खडिया तनय् पकुआ कुर्मी निवासी दिदौनिया थाना बमीठा द्वारा पुलिस को सौंपे गये आवेदन पत्र के मुताविक खडिया वृद्व एवं निरक्षक अंगूठा छाप व्यक्ति हैं उसे इस बात की कोई भी जानकारी नहीं हैं कि उसके नाम के जमीन सम्बन्धी दस्तावेजों को लगा कर दलालो द्वारा नौ लाख सत्तर हजार की राशि बैंक ऑफ इण्डिया की शाखा छतरपुर से निकालें जा चुके हैं। इस पूरे घोटाले की जानकारी खडिया को तब लगी जब बीती 24 दिसम्बर को बैंक ऑफ इण्डिया से उसके नाम नोटिस आया नोटिस में साफ-साफ लिखा था कि उसने नौ लाख सत्तर हजार रूपये की राशि बैंक से वतोर किसान क्रेडिट कार्ड से निकाली हैं जो जल्द से जल्द बैंक में जमा कराये नोटिस को जब खडिया ने गांव के पढे लिखे पंचो को पढवाया तो पंचो से इतने बडे ऋण की बात सुनकर खडिया के हौस उड गये। खडिया के मुताबिक उसने आज तक कभी किसी को किसी भी प्रकार के जमीन सम्बन्धी दस्तावेज नहीं दिये और नहीं और उसने ऋण निकाले सम्बन्धी आवेदन दिया खडिया का खाता क्रमांक 944232110000183 बताया गया हैं.

शिकायती आवेदन कि मानी जाये तो बीती 18 मार्च को कुटीया निवासी अशोक विश्वकर्मा खडिया और उसके पुत्र नन्दा के पास आये और उसे पुलिस में एफ आईआर करने से मना किया साथ ही बैंक में दलाली करने वाले अशोक ने कहा कि हमारी अमित भाईया से बात हो चुकी हैं वे जिस तरह बाकि केसो का पैसा जमा कर मामला निपटाने में लगे हैं बैसे भी अमित भाईया तुम्हारा भी मामला निपटवा देगें। तुम चिंता मत करों। न थाने जाओ न रिपोर्ट करो। खडिया के नाम ग्राम दिदौनिया में ऋण पुस्तिका एल.क्र.एफ. 847604 खसरा नं0 920/2, 934/2, 950, 951, 952, कुल 05 हेक्टर भूमि इन्द्रराज हैं जिस पर प्रार्थी बीते कई वर्षो से खेती करते आ रहा हैं जब उक्त मामले को लेकर फरियादी बैंक पहुँचा तो बैंक मैनीजर ने फरियादी से पैसा जमा कराने की बात कह कर बैंक से भगा दिया। अब अनपढ़ निरक्षर 85 वर्षीय वृद्व खडिया इन्साफ की गुहार लगाते पुलिस के दरवाजे भटक रहा हैं.

Related Posts: