hamid-gulइस्लामाबाद. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख और कश्मीर तथा अफगानिस्तान के लिए आतंकवादियों की पौध तैयार करने वाले के तौर पर पहचाने जाने वाले कट्टरपंथी इस्लामवादी लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) हामिद गुल की मस्तिष्काघात के कारण मौत हो गई है।

उनकी बेटी उज्मा गुल ने बताया कि 78 वर्षीय गुल को बीती रात मस्तिष्काघात हुआ था। उन्हें मरी स्थित संयुक्त सैन्य अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। गुल 1987 और 1989 के दौरान आईएसआई के प्रमुख थे जब तत्कालीन सोवियत संघ के खिलाफ अमेरिका समर्थित जिहाद अंतिम चरण में था। उन्होंने अफगान युद्ध के बाद के चरणों में भी खुफिया एजेंसी में काम करना जारी रखा।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उनकी मौत पर दुख व्यक्त किया है । पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ ने भी दुख प्रकट किया। गुल को 1958 में पाकिस्तानी सेना में आर्मर्ड कोर (19 लांसर्स) में कमीशन मिला था। वह 1965 में भारत के साथ युद्ध के दौरान चाविंडा मोर्चे पर टैंक कमांडर थे।

Related Posts: