naiduनई दिल्ली, 25अगस्त, नससे. केंद्र सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाने के लिए जीएसटी विधेयक पर कांग्रेस और वामपंथी दलों समेत सभी दलों से सहमति बनाने का प्रयास कर रही है और सरकार इस बील पर सहमति बनाने के बाद हीं संसद का विशेष सत्र बुलाएगी. जीएसटी विधेयक का उद्देश्य देश में तमाम तरह के अप्रत्यक्ष करों को समाप्त कर एक हीं प्रकार की कर व्यवस्था लागू करना है.

वित्त मंत्री अरुण जेटली, संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू, संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी जीएसटी पर आम राय बनाने के लिए सभी राजनैतिक दलों से मुलाकात कर रहे हैं और साथ ही सरकारी वार्ताकारों ने भी जीएसटी विधेयक को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद से बात की है. लेकिन अभी तक इसका कोई ठोस नतीजा नहीं निकल कर आया है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी इस बील को लेकर अड़े हैं कि यह विधेयक तभी पास हो सकता है जब सरकार इसमें कांग्रेस द्वारा बताए गए बदलाव को शामिल करेगी.

 

Related Posts: