पुराने यात्री वाहन, बायो डीजल और सिंचाई उपकरणों पर कर घटा

29 आइटम्स और 53 सेवाओं पर घटाया टैक्स

नयी दिल्ली,

जीएसटी परिषद् ने पुराने यात्री वाहनों, बायो डीजल, कुछ कृषि उपकरणों सहित 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर कर की दरें घटाने का फैसला किया है.

परिषद् की आज हुई 25वीं बैठक के बारे में जानकारी देते हुये वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि फिटमेंट समिति ने कुल 29 वस्तुओं और 54 सेवाओं पर करों की दरें घटाने की सिफारिश की थी. इनमें 29 वस्तुओं और 53 सेवाओं पर दर घटाने का सुझाव स्वीकार कर लिया गया है. नयी दरें 25 जनवरी से प्रभावी हो जायेंगी.

एक प्रश्न के उत्तर में जेटली ने कहा कि इन वस्तुओं और सेवाओं पर दरों में कमी करने से राजस्व का बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होगा. ये वैसी वस्तुएँ और सेवाएँ हैं, जिनमें रोजगार बड़े पैमाने पर मिलता है.

रियल एस्टेट पर भी कोई बात नहीं

इसके अलावा जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में रियल एस्टेट सेक्टर को जीएसटी के दायरे में लाने को लेकर भी कोई बातचीत नहीं हुई. मीटिंग से पहले इस सेक्टर को दायरे में लाने को लेकर चर्चा जोरों पर थी. इसके अलावा जीएसटी की फाइलिंग में भी कारोबारियों को अभी कोई राहत नहीं मिल पाई है.

रिटर्न फाइलिंग में फिलहाल कोई राहत नहीं

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि रिटर्न की फाइलिंग पहले की तरह ही चलती रहेगी. रिटर्न फाइलिंग की प्रक्रिया को आसान करने को लेकर नंदन नीलेकणि ने एक प्रजेंटेशन भी दिया. उन्होंने कहा कि जल्दी ही तीन रिटर्न फाइलिंग के स्थान पर एक रिटर्न फाइलिंग की व्यवस्था शुरू की जाएगी.

इंटर स्टेट ई-वे बिल 1 से

1 फरवरी से इंटर स्टेट ई-वे बिल की व्यवस्था शुरू होगी. इसके अलावा 15 राज्यों ने इंट्रा-स्टेट ई-वे बिल की व्यवस्था भी शुरू करने की बात कही है. इस मीटिंग में आईटी सेक्टर के दिग्गज नंदन नीलेकणि भी शामिल थे.

Related Posts: