jayant singhaजीएसटी से बदलेगी वित्तीय संरचना: सिन्हानई दिल्ली, 5 मार्च. वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को अमल में लाना एक क्रांतिकारी कदम है और इसमें सरकार की समूची ‘वित्तीय संरचनाÓ में बदलाव लाने की क्षमता है। वित्त राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने आज यह बात कही।

सिन्हा ने कहा, ‘कुछेक रूप में यह क्रांतिकारी है, जैसा कि 1991 में हुआ था, जिस समय सरकार के काम करने का पूरा ढांचा बदल गया था।Ó सिन्हा ने कहा कि जीएसटी से राज्यों, स्थानीय सरकारों व केंद्र की कर लगाने की शक्ति में बदलाव होगा। इसमें राज्यों को हिस्सा मिलेगा। इससे भारत सरकार की वित्तीय संरचना बदलेगी। भारत ने 1991 में अपनी अर्थव्यवस्था को निजी क्षेत्र के लिए खोला था। 14वें वित्त आयोग ने केंद्रीय करों में राज्यों को अधिक हिस्सा देने की सिफारिश की है।

Related Posts: