छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक से कहा

  • लिखकर दे सकते हो कि कोई बदलाव नहीं हो सकता,
  • गुस्साए छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक का किया घेराव

नवभारत न्यूज ग्वालियर,

जीवाजी विश्वविद्यालय के डीएमएलटी सेकण्ड प्रोफ के पेपर को लेकर छात्रों ने गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए मंगलवार को फिर से जमकर हंगामा प्रदर्शन किया।

गुस्साए छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक का घेराव कर लिया और उनके कक्ष में ही धरने पर बैठने की धमकी देने लगे। लेकिन विवि के अधिकारियों ने इसे खारिज कर दिया उनका कहना है कि परीक्षा परिणाम घोषित हो चुका है।

अब कुछ नहीं हो सकता अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विवि अध्यक्ष प्रतीक शर्मा के नेतृत्व में विवि पहुंचे कॉलेज ऑफ लाइफ साइंस के डीएमएलटी सेकण्ड प्रोफ के छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक प्रो. राकेश कुशवाह के पास पहुंचकर आरोप लगाया कि विवि ने पैथोलॉजी विषय का पेपर आउट ऑफ सिलेबस तैयार किया।

इसमें एनाटॉमी और फिजियोलॉजी में 20 प्रतिशत सिलेबस आना था, लेकिन प्रथम प्रश्न पत्र से ही 90 प्रतिशत सवाल पूछे गए। उन्होंने रिजल्ट में छूट देने की मांग की, जिसे परीक्षा नियंत्रक ने सिरे से खारिज कर दिया।

उसके बाद गुस्साए छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक के चेम्बर में धरने पर बैठने की प्लानिंग कर ली और उनकी टेबल पर हाथ पटककर कहा कि तुम लिखकर दो कि कोई बदलाव नहीं कर सकते?

इस पर परीक्षा नियंत्रक राजी नहीं हुए और कहा कि मुझसे अशोभनीय शब्दों का प्रयोग मत करो, अगर कोई परेशानी है तो कुलपति और रजिस्ट्रार से शिकायत कर दो।

छात्रों के विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए विवि प्रशासन ने संबंधित विषय के संकायाध्यक्ष को बुलाकर पेपर चेक करवाया। जांच में डीन ने पाया कि पेपर सही तरीके से तैयार हुआ है और कोई भी प्रश्न आउट ऑफ सिलेबस नहीं आए। एचओडी ने यह रिपोर्ट परीक्षा नियंत्रक को सौंप दी है।

Related Posts: