gsat-18चेन्नई,  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा निर्मित संचार उपग्रह जीसैट-18 का फ्रेंच गुयाना से होने वाला प्रक्षेपण खराब मौसम के कारण एक दिन के लिए टाल दिया गया है। पहले 3,404 किलोग्राम वजन वाले इस उपग्रह का प्रक्षेपण भारतीय समयानुसार आज तड़के दो बजे से तीन बजकर 15 मिनट के बीच किया जाना था। अब इसका प्रक्षेपण कल इसी समय होगा।

इसरो ने कहा, “प्रतिकूल मौसम के कारण प्रक्षेपण 24 घंटे के लिए टाल दिया गया है।” इसका प्रक्षेपण अंतरराष्ट्रीय एजेंसी एरियन स्पेस के एरियन 5 उपग्रह प्रक्षेपण यान से किया जायेगा। वीए231 नामक इस मिशन में जीसैट-18 के साथ ऑस्ट्रेलियाई उपग्रह स्काई मस्टर-2 भी छोड़ा जायेगा। प्रक्षेपण के तकरीबन 32 मिनट बाद जीसैट-18 को उसकी लक्षित भूस्थैतिक कक्षा में स्थापित कर दिया जायेगा।

जीसैट-18 की अनुमानित परिचालन आयु 15 साल है। यह सी-बैंड, विस्तृत सी-बैंड तथा कू-बैंड पर सेवायें देगा। प्रक्षेपण यान से अलग होने के बाद इसरो की कर्नाटक के हसन स्थित मास्टर कंट्रोल फसिलिटी उपग्रह को अपने नियंत्रण में ले लेगी। इसके बाद तीन बार इसके अक्ष काे बदलकर इसे 74 डिग्री पूर्वी देशांतर पर लाया जायेगा।

Related Posts: