g-20_2बेलेक (तुर्की), पेरिस में हुये आतंकवादी हमलों के बाद तुर्की में चल रहे जी-20 सम्मेलन में शामिल हुये विश्व के नेता आतंकवाद के खिलाफ एकजुट नज़र आये और सभी ने इसके खात्मे के लिये सीमा नियंत्रण को कड़ा करने, खुफिया जानकारी साझा करने और आतंकवादियों को वित्तीय मदद रोकने की दिशा में कदम उठाने का वादा किया।

तुर्की के सीमावर्ती प्रांत अन्ताल्या में आयोजित दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन में आतंकवाद के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया गया और इसका खत्मा करने के लिये सम्मेलन में शामिल हुये नेताओं ने मजबूती से अपनी बात को रखा। इसके अलावा सीरिया और इराक में आतंकवादी संगठनों के खतरे पर भी इस सम्मेलन में बातचीत की गयी।

आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन भी एक साथ खड़े नजर आये। उनके अलावा ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने भी आतंकवाद के मुद्दे पर मजबूती से अपना पक्ष रखा।

श्री कैमरन ने एक न्यूज कॉन्फ्रेंस में कहा, “पेरिस में शुक्रवार रात को हुये आतंकवादी हमले, रूस की विमान दुर्घटना, अंकारा में हुये बम हमले और ट्यूनीशिया और लेबनान हमले, ये वही खतरा है जिसका हम सभी सामना कर रहे हैं। हम सभी आतंकवादियों को वित्तीय मदद उपलब्ध कराने को रोकने की दिशा में कदम उठाने को लेकर पूरी तरह सहमत हैं।”

फ्रांस के लड़ाकू विमानों ने पेरिस हमलों के बाद सीरिया में अातंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के ठिकानों को निशाना बनाकर हमला किया। फ्रांस के विदेश मंत्री लॉरेंट फेबियस ने इसे ‘आत्मसुरक्षा’ करार दिया है।

इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कल इस्लामिक स्टेट को खत्म करने के लिये कदम उठाने की बात कही थी। उन्होंने श्री पुतिन के साथ अनौपचारिक बैठक में पेरिस जैसे हमलों को रोकने की दिशा में और अधिक कड़े कदम उठाने के लिये कहा था। अमेरिका के नेतृत्व में सहयोगी देश आईएस के खिलाफ अभियान छेड़े हुये थे और करीब डेढ़ महीने पहले रूस ने भी आईएस के ठिकानों पर हमले करना शुरु किया था।

Related Posts:

इंडोनेशियाई विमान 54 यात्रियों सहित लापता
आदर्श ग्राम के लिए गांवों की आर्थिक मजबूती जरूरी: वीरेंद्र सिंह
गतिमान एक्सप्रेस वापसी में भी सौ मिनट में पहुंची निजामुद्दीन
पदोन्नति में आरक्षण अवैध : उच्च न्यायालय
भारतवंशी प्रतिभा नेल्सन बनीं इंडियाना यूनीवर्सिटी में कार्यकारी निदेशक
वायु सेना का हेलिकॉप्टर बद्रीनाथ के निकट दुर्घटनाग्रस्त