14kk9नई दिल्ली,  विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में नरसिंह यादव के 74 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में कांस्य पदक जीतने और देश को ओलंपिक कोटा दिलाने के बाद भारतीय कुश्ती महासंघ के सामने बेशक धर्मसंकट की स्थिति उत्पन्न हो गई हो लेकिन इसी वजन वर्ग के स्टार पहलवान सुशील कुमार का कहना है कि जो अच्छा करेगा वही अगले साल रियो ओलंपिक में जाएगा.

नरसिंह ने अमेरिका के लास वेगास में रविवार को संपन्न हुई विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में भारत को एकमात्र पदक दिलाया. उनके कांस्य पदक के कारण भारत को फ्री स्टाइल चैंपियनशिप में 14 अंकों के साथ 10वां स्थान मिला. नरसिंह ने यह पदक जीतकर भारत को 2016 के रियो ओलंपिक के लिये कोटा स्थान भी दिला दिया. लगातार दो बार ओलंपिक में पदक जीतकर इतिहास बना चुके दिग्गज पहलवान सुशील ने नरसिंह को इस पदक के लिये बधाई देते हुये कहा कि अभी इस पदक का जश्न मनाने का समय है. रियो के बारे में हम बाद में भी बात कर सकते हैं. सुशील अपने कंधे की चोट के कारण विश्व चैंपियनशिप से हट गये थे. हालांकि उन्होंने साथ ही कहा कि मेरा हमेशा से मानना है कि जो अच्छा करता है और जो अच्छा कर सकता है उसी को ओलंपिक में जाना चाहिये. नरसिंह के पदक से कुश्ती महासंघ के सामने धर्म संकट जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है. एक ही वजन वर्ग में सुशील और नरसिंह हैं तथा इनमें से एक पहलवान को रियो ओलंपिक में हिस्सा लेना है. फेडरेशन आगे चलकर इसके लिये ट्रायल कराएगा या कुछ और करेगा यह देखना दिलचस्प होगा. विश्व प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिये जाने से पहले नरसिंह सुशील से मिले थे और सुशील ने तब इस पहलवान से अच्छा प्रदर्शन करने के लिये कहा था और नरसिंह ने भी अच्छे प्रदर्शन का वादा किया था. नरसिंह ने कांस्य और ओलंपिक कोटा हासिल कर अपना वादा पूरा कर लिया है.

Related Posts: