भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जो भी जनता को परेशान करेगा, दादागिरी करेगा, विकास के काम में अडंगा डालेगा उसे नहीं छोड़ा जायेगा।

श्री चौहान ने आज अपने निवास में धार जिले से आये पीडित जनजातीय लोगों से चर्चा करते हुए कहा कि उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। उन्होने गुंडों, बदमाशों और माफिया चलाने वालों से कहा कि वे मध्यप्रदेश छोडकर चले जायें नहीं तो पुलिस उन्हें छोड़ेगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं के सम्मान पर कभी आंच नहीं आने दी जायेगी।

धार जिले के गंधवानी विधानसभा क्षेत्र के गांवों से बडी संख्या में जनजातीय समुदाय के लोगों ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे लोग स्थानीय कांग्रेस नेता की गुण्डागर्दी से परेशान हैं। पुलिस जब आदतन अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करती है तो पुलिस पर आरोप लगवाते हैं।

कुछ आदिवासी समुदाय के ही परिवार आदतन अपराधों में लिप्त हैं। गांव के विकास की गतिविधियों में बाधा डालते हैं।
मुख्यमंत्री को यह भी बताया कि तथाकथित बलात्कार पीडित महिलाओं के पति और परिवार के लोग स्वयं अपराधी प्रवृत्ति के हैं। उन्होने बताया कि ऐसा कोई कृत्य नहीं हुआ है। कांग्रेसी नेता सिर्फ घिनौना आरोप लगा रहे हैं।

श्री चौहान ने इस पर कहा कि संबंधित घटना की निष्पक्ष जांच होगी और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होने कहा कि पुलिस को निर्देश दिये गये हैं कि जनता के लिये फूल से ज्यादा कोमल और बदमाशों के लिये वज्र से ज्यादा कठोर बन जायें। चोरी, डकैती, गुंडागर्दी को संरक्षण देने वाले और उन्हें प्रोत्साहित करने वालों को नहीं छोडा जायेगा। पुलिस से साफ कहा गया है कि बदमाशों को मत छोडो, उन्हें कुचल डालो।

उन्होंने कहा कि बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश में कानून का राज स्थापित है। आदिवासी बहुल क्षेत्रों में पूरी गति से विकास कार्य करें। युवाओं को रोजगार देंगे। सडकें, नहरें, बिजली पानी सब उपलब्ध रहेगा। जनता के ऊपर दादागिरी करने वालों को नहीं छोडा जायेगा।
इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह, सहकारिता राज्य मंत्री विश्वास सारंग, जनजातीय समाज के नेता मलसिंह भाई धार भाजपा अध्यक्ष श्री बर्फा और पांच सौ से ज्यादा आदिवासी भाई उपस्थित थे।

Related Posts: