bpl2भोपाल,  मध्यप्रदेश पुलिस की अपराध शाखा भोपाल ने शहर के विभिन्न बाजारों की दुकानों को निशाना बनाने वाले दो नकबजनों को पकड लिया है। इनसे शहर में हुई छह नकबजनी की वारदातों का खुलासा हुआ है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक क्राइम ब्रान्च को दो लड़कों के जहाॅगीराबाद में सोने-चांदी के जेवर बेचने के लिए खडे होने की जानकारी मिली थी। दोनों बातचीत से संदिग्ध लग रहे है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दोनों को धर दबोचा। दोनों ने अपना नाम धनराज लोवंशी और अनिल वाल्मीकी बताया। दोनो संदेहियों से सोने चांदी के जेवरों के संबंध में कडाई से पूछताछ की गई तो दोनो ने जेवरात जहांगीराबाद के भीमनगर से एक दुकान से चोरी करना स्वीकार किया। पूछताछ पर दोनों ने चोरी की एक दर्जन से अधिक वारदातें एमपीनगर, गोविंदपुरा, रातीबड एवं मंडीदीप क्षेत्र मेें करना स्वीकार किया।

पुलिस ने आरोपियों के बताये अनुसार दोनों से कुल छह वारदातों का सामान बरामद किया। शेष के संबंध में पुलिस रिमांड लिया जाकर कार्रवाई की जाएगी।
गिरफ्तार धनराज ने बताया कि वह 2014 में थाना गोविंदपुरा एवं बागसेवनियां सें नकबजनी के अपराध में गिरफ्तार होकर जेल की हवा खा चुका है। बाद में उसने बच्चाें को इकट्ठा कर नकबजनी करना शुरू किया था जिसमें वह गिरफ्तार हो चुका था। जेल में उसकी मुलाकात झगडे के आरोप में जेल की हवा खा रहे अनिल से हुई। जेल से रिहा होने के बाद दोनो ने गैंग बना ली।

Related Posts:

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. शंकर दयाल शर्मा को याद किया शहरवासियों ने
भाजपा सौंपेगी प्रधानमंत्री को ज्ञापन
वरिष्ठ साहित्यकार भगवत रावत का निधन
जनसंपर्क मंत्री ने 'बस एक रिश्ता' गाने की सीडी का विमोचन किया
मध्यप्रदेश में मनरेगा के क्रियान्वयन की सराहना
पीएससी की परीक्षा में परीक्षार्थियों से उतरवा लिये जूते-मोजे और लॉकेट